Recents in Beach

विकाश दुवे की अरवो की संम्पत्ति का खुलाशा



बेशुमार दौलत लग्जरी लाइफ़स्टाइल महंगे शौक और फॉरेन में बच्चों की पढ़ाई


कानपुर:हर साल 10 करोड़ से ऊपर की कमाई 10 करोड़ का सालाना टर्नओवर करोड़ों की बेनामी संपत्ति। दुबई में घर यह लाइफ स्टाइल थी, विकास दुबे की।

सोचने वाली बात है। कैसे  मामूली सा गुंडा  विकास दुबे कैसे  इतनी आलीशान जिंदगी जीता था ,और कहां से लाता था। वह इतने सारे पैसे, कहा जाता है  कि विकास दुबे की जिंदगी किसी फिल्मी सितारे से कम नहीं थी। एक समय जब यूपी में विकास दुबे की तूती बोलती थी। इसने अपने गलत कामों की वजह से बहुत ही कम समय में पैसा और पावर दोनों ही कमाये।



गैंगस्टर के  तार कई राजनीतिक पार्टियों से जुड़े हुए थे। लेकिन क्रिमिनल केस होने के कारण एक वांटेड क्रिमिनल बन चुका था। और आखिर में इसका एनकाउंटर कर दिया। और एनकाउंटर के बाद जब इसकी संपत्ति का आकलन किया तो ,सबके होश उड़ गए विकास दुबे की संपत्ति 100 करोड़ रुपए से भी अधिक थी।

इसलिए विकाश दुवे ने ये  पैसे मेहनत करके तो नहीं कमाएं होंगे , विकास दुबे ने सारी संपत्ति लोगों को डरा कर धमकाकर कमाई। पॉलिटिक्स विकास ने अपनी दहशत और राजनीति के पायदान में खड़े होकर करोड़ों ,अरबों की संपत्ति अर्जित कर ली थी।  लेकिन शुरुआती जांच में ही विकास की संपत्ति का आकलन 100 करोड़ तक पहुंच चुका है। और यह वाकई में हैरान कर देने वाली बात आपको बता दें। कि अभी पूरी जांच बाकी और विकास दुबे जिंदगी यह कई पन्ने खोलने अभी भी बाकी है।


शुरुआती जांच में पता चला है। कि विकास पिछले 3 सालों में 14 बार विदेश जाने के साथ, लखनऊ और कानपुर में इसके कई फ्लैट्स की  कीमत करोड़ों में, इतना ही नहीं विकास के दुबई में भी कई फ्लाइट तौर पर मौजूद थे। और गणमान्य अनुसार विदेशों में बने इसकी फ्लाइट्स और घर की कीमत 30 करोड़ से भी ज्यादा कहा जाता है। कि विकास के पास पहले से छोटा सा घर और कुछ 5 बीघा जमीन मौका दिया। उसे अपनी गुंडागर्दी से रंगदारी चालू की और धीरे-धीरे एक जाना माना गुंडा बन जाएगा। जब उसकी गुंडागर्दी ने राजनीति का नमक पढ़ तब उसकी ताकत कई गुना बढ़ गई और उसने फिर तेजी से अपनी दहशत फैलाना शुरू कर दी।



विकास ने अपने इलाके में डर और दहशत की बदौलत कई संपत्तियों पर कब्जा करना और वसूली करना शुरू कर दिया।
और धीरे-धीरे यूपी का कुबेर बन गया ।लोग उसके नाम से ही डरते थे । इतना बड़ा साम्राज्य खड़ा कर रखा था।  कि वह जो चाहता था।एनकाउंटर से पहले लखनऊ में हाल ही में 20 करोड़ का घर खरीदा और इसके अलावा कानपुर के ब्रह्म नगर में विकास के छह मकान और कानपुर के आर्य नगर में भी विकास के कई प्लाट की कीमत आसमान छू की संपत्ति के लिस्ट में ही खत्म नहीं होती। कानपुर के पनकी नगर में विकास के पास 28 करोड़ की एक कोठी भी मौजूद है. और शुरुआती जांच में पता चला कि विकास के पास कुल 11 घर और कई प्लॉट कई  इलाकों में मौजूद हैं जिनकी कीमत करोड़ों में हैं



विकास ने यूपी में अपना दबदबा इस तरह से कायम कर रखा था कि वह जिस जमीन पर नजर डालता था वह जमीन उसकी हो जाती थी.

 यहां तक कि बड़ी-बड़ी COMPONIYO के मालिक भी इससे खौफ खाते विकास ने  इन फैक्ट्री मालिकों से लाखों में हफ्ता वसूली करता था और  कहा जाता है कि विकास लोगों को व्याज पे  पैसे दिया करता था विकास से लोग कभी शादी के लिए और कोई अन्य कारणों से पैसा ब्याज पर लाकर दे देते थे ,और जब बोलो पैसा नहीं चुका पाता विकास उनकी जमीन हथियाने का काम करता था , एनकाउंटर के बाद जब  विकास के  घर की तलाशी ली तो  पुलिस को वहां पर कई बेनामी संपत्तियों के कागजात मिले जिससे नुमान लगाया जा रहा है कि विकास की  हाल ही में 10 करोड़ से ज्यादा की वसूली थी,  जो प्रॉपर्टी विवाद में होती थी तब वह उन्हें भी कब्जे में लेकर उनसे पैसे कमाया करता था,और  कहा जाता है कि विवादित संपत्तियों से हर महीने 25 से 30 लाख तक की कमाई कर लिया करता था 

 विकास के गुर्गे यूपी में करीब 400 फैक्ट्रियों से रंगदारी टैक्स वसूल तक अनुमान के अनुसार विकास हर महीने में साथियों सहित 70 से 80 लाख रुपया कमाता था। और इस तरह से इसकी सालाना कमाई 8 करोड़ से ऊपर इतना ही नहीं कि विकास के चहेते होते कौन हैं इन राशियों में नौकरी पर लगाता था विकास ने अपने नाम के अनुसार गुंडागर्दी में खूब विकास किया था और उसके इस विकास से उसने बहुत पैसा और पावर कमा लिया था आपको बता दें कि विकास की बहुत सी बेनामी संपत्ति बाहर आने वाली है क्योंकि अभी सिर्फ इसकी शुरुआती जांच हुई है



अब सवाल ये उठता गांव में रहने वाला शख्स का बिजनेस नाम मात्र है जिसका मैन  बिजनेस दबंगई और उसने जब इतनी दौलत बना डाली तो, उस पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर क्यों नहीं पडी। 



Post a Comment

0 Comments